बहुजन समाज पार्टी की अध्यक्ष मायावती
उत्तर प्रदेश

मायावती का नरेंद्र मोदी पर हमला, पूर्वांचल एक्सप्रेस-वे के उद्घाटन को बताया छलावा

द फ्रीडम न्यूज, लखनऊ: पू्र्वांचल एक्सप्रेस वे के शिलान्यस के बाद विपक्षी दलों ने पीएम मोदी पर हमला बोल दिया है। अखिलेश यादव के बाद बहुजन समाज पार्टी की अध्यक्ष मायावती ने आजमगढ़ में पूर्वांचल एक्सप्रेस-वे के शिलान्यास को छलावा बताया है। बसपा अध्यक्ष ने इसको पुरानी परियोजना बताया है।  मायावती ने जारी बयान में कहा है कि आज आजमगढ़ में पूर्वांचल एक्सप्रेस-वे की आधारशिला रखना प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का जनता के साथ छलावा करना जैसा ही है। पुरानी परियोजना का अगर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी अपनी सरकार के गठन के समय 2014 में शिलान्यास करते तो अब तक इसका लोकार्पण हो जाता। अब तक लोग इसका लाभ लेते, लेकिन अब पीएम नरेंद्र मोदी इसको अधर में लटकाना चाहते हैं। उन्होंने कहा कि पूर्वांचल एक्सप्रेस-वे इसके साथ-साथ अब गोरखपुर व बुंदेलखंड एक्सपे्रस-वे की भी बनाने की मात्र खोखली बात करना भी जनता के साथ छलावा नहीं है, तो और क्या है।

मायावती ने कहा कि पूर्वांचल एक्सप्रेस-वे, जेवर इंटरनेशनल एयरपोर्ट व ग्रेटर नोएडा से बलिया तक 8-लेन वाली गंगा एक्सप्रेस-वे आदि की रूपरेखा तो प्रदेश में बसपा की सरकार में ही काफी पहले तैयार करके इस पर आधारभूत काम भी शुरू करवा दिया था। इन सब कार्यों को भी काफी हद तक बसपा की सरकार में ही पूरा किया जा सकता था, यदि उस समय की केन्द्र की कांग्रेसी सरकार इन सब कार्यों को करने के लिए हमें एनओसी दे देती, लेकिन ऐसा नहीं किया गया। यह सभी जानते हैं।

बसपा ने पूर्वांचल के विकास के लिए आधारभूत फैसले लेकर मिर्जापुर व बस्ती को अलग मंडल व चंदौली को अलग जिला बनाया गया। नई तहसीलें भी बनाई गई। इसके साथ-साथ पूर्वांचल को अलग राज्य बनाने का भी ठोस बुनियादी काम किया।

मायावती ने कहा कि लोकसभा का चुनाव नजदीक आने के कारण केंद्र तथा उत्तर प्रदेश भी भाजपा सरकार को विभिन्न योजनाओं के शिलान्यास की सूझी है। इस प्रकार के चुनावी फैसलों को जनता छलावा के रूप में ही देखती है। चुनावी आश्वासनों व कोरी राजनीतिक बयानबाजी से उत्तर प्रदेश का पिछड़ापन व यहां के लोगों की जबर्दस्त गरीबी, कुण्ठा पैदा करने वाली बेरोजगारी व महंगाई की मार कम होने वाली नहीं है, इसके लिये योजनाबद्ध तरीके से लगातार पूरी लगन व ईमानदारी के साथ काम करने की जरूरत है, जो इच्छाशक्ति भाजपा की केंद्र व राज्य सरकार में दिखाई नहीं पड़ रही है।

Leave a Reply

Your email address will not be published.