उत्तर प्रदेश

कानपुर विश्वविद्यालय : जहां हॉस्टल के खाने में मिलती है छिपकली और कमरे में सांप

कानपुर: कहने को 21वीं सदी में आ गये हैं हम और देश हमारा विकासशील राष्ट्रों से उठकर विकसित देशों की गिनती में आने को बेताब है। लेकिन उसी देश में नौजवानों को शिक्षित बनाने के लिए बनाये गये विश्वविद्यालयों में अगर बच्चे खाने और सुरक्षित छात्रावास के लिए धरना दे रहे हों तो वह पढ़ाई कब करेंगे।

धरने की वजह बहुत ही गंभीर

देश के विश्वविद्यालयों में से एक छत्रपति साहू जी महराज विश्वविद्यालय के मुख्य कैम्पस की छात्राएं धरने पर हैं और वजह बहुत ही गंभीर है। रात में धरने पर बैठी यह छात्राएं खाने में लगातार मिल रहे कीड़े मकोड़ों और छात्रावास में आये दिन मिलने वाले जहरीले जीव जंतुओं से सुरक्षा की मांग कर रही हैं। धरने में उनका साथ छात्र भी दे रहे हैं।

वीसी को कई बार अवगत कराने के बाद भी कोई हल नहीं

छात्राओं को आरोप है कि इस स्थिति से कुलपति को कई बार अवगत करवाया गया लेकिन कोई परिणाम नहीं निकला। छात्राओं का यह भी आरोप है कि कुलपति निवास में होने के बावजूद भी उनके सहयोगी ना होने का बहाना बनाते हैं और हमें उनसे मिलने नहीं देते हैं।

तस्वीरों में देखिए हॉस्टल के हालात

साभार- शिवांगी भदौरिया की फेसबुक टाइमलाइऩ
साभार- शिवांगी भदौरिया की फेसबुक टाइमलाइऩ
खाने में छिपकली की पूंछ

 

Leave a Reply

Your email address will not be published.