उत्तर प्रदेश

उन्नाव में हुए गैंगरेप का छठवां आरोपी गिरफ्तार, सामने आई कुछ ऐसी बातें सुनकर आपका खौल उठेगा खून

 उन्नाव : उन्नाव में हुए दर्दनाक गैंगरेप जिसकी आवाज ने समूचे अवाम को हिला कर रख दिया, असहाय महिला चिल्लाती रही, लेकिन उन हवसी दरिंदों को कुछ नहीं दिखाई दिया|  इसी कड़ी में आगे बढ़ते हुए क्राइम ब्रांच व पुलिस टीम ने फरार चल रहे छठे आरोपी को मंगलवार शाम को हाईवे के पास से गिरफ्तार कर लिया है| आपको बता दे कि इमं दरिंदो ने अभी हाल में ही एक विडियो वायरल किया था| जिसके बाद  से ही योगी सरकार की कानून ब्यवस्था पर सवाल उठने लगे थे|

पुलिस हिरासत में उसने अपने गिरोह के कई कारनामा उजागर करने के साथ ही विरोधी गुट का भी काला चिट्ठा खोला है पुलिस अपराध और अवैध धंधों से जुड़े गिरोह के खुलासे की कोशिश में जुटी है|

शुक्लागंज के गंगाघाट थानाक्षेत्र में एक महिला को दिनदहाड़े जंगल में खींचकर सामूहिक दुष्कर्म करने और सोशल मीडिया पर वीडियो के वायरल होने की घटना में गंगाघाट एसओ की ओर से दर्ज कराई गई एफआईआर में आरोपी पवन, रितिक, विमल को गिरफ्तार कर जेल भेज दिया गया था जबकि एक नाबालिग आरोपी चोरी के मुकदमे में बाल सुधार गृह लखनऊ में है|

कई दिनों से विपिन नाम के छठे आरोपी की तलाश कर रही पुलिस ने मंगलवार शाम को लखनऊ-कानपुर हाईवे से उसकी गिरफ्तार करने की बात कह रही है| हालांकि सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार विपिन ने पुलिस के दबाव में दो दिन पहले ही पुलिस के सामने आत्मसमर्पण कर दिया था|

वायरल हुए वीडियो में विपिन महिला को बेल्ट से पीटता दिखा था| पुलिस सूत्रों के मुताबिक विपिन ने गंगाघाट थानाक्षेत्र में चल रहे रैकेट, मादक पदार्थों की बिक्री सहित लूट व चोरी की वारदातों में लिप्त कुछ और गिरोहों का काला चिट्ठा खोला है|

इनमें चंडीगढ़ पुलिस का एक वांटेड भी शामिल है| जरायम के कारोबार को उन्नाव सहित आसपास के जिलों में अंजाम देने वाले गिरोह का खुलासा करने की कोशिशों में जुटी पुलिस ने विपिन की निशानदेही पर कई लोगों को उठाया भी है|

सीओ सिटी स्वतंत्र सिंह ने बताया कि अपराधों में लिप्त शातिरों काफी संख्या है| उनके अनुसार दोनों गुटों में आपसी मतभेद होने से दोनों गुट एक दूसरे के खिलाफ हो गए थे|दूसरे गुट से खुन्नस निकालने के इरादे से दो महीने पुराने वीडियो को सोशल मीडिया में वायरल किया गया था| सीओ सिटी ने बताया कि इस तरह का वीडियो वायरल करना भी जघन्य अपराध है|

 

Leave a Reply

Your email address will not be published.