राजस्थान

मर्यादाएं लांघ कर अशोक गहलोत बोले- सचिन पायलट नकारा और निकम्‍मा

जयपुर ब्यूरो: राजस्थान के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने आज सचिन पायलट पर खुलकर हमला बोला। इस दौरान उन्‍होंने सारी मर्यादाएं लांघ दी और सचिन पायलट को काफी भला-बुरा कहा। गहलोत ने जो कुछ आज कहा, उसके बाद ऐसा नहीं लगता कि सचिन पायलट कांग्रेस में रहना चाहेंगे। उन्‍होंने कहा कि हमने कभी सचिन पायलट पर सवाल नहीं उठाया। बीते सात साल के अंदर एक राजस्थान ही ऐसा राज्य है, जहां प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष को बदलने की मांग नहीं की गई, लेकिन सचिन पायलट ने कांग्रेस की पीठ में खुरा घोंपा। किसी ने सोचा भी नहीं होगा कि एक भोले चेहरे के पीछे ऐसा साजिशकर्ता छिपा बैठा था।

अशोक गहलोत ने कहा, ‘एक छोटी खबर भी नहीं पढ़ी होगी किसी ने कि पायलट साहब को कांग्रेस प्रदेशाध्यक्ष के पद से हटाना चाहिए। हम जानते थे कि वो (सचिन पायलट) निकम्मा है, नकारा है, कुछ काम नहीं कर रहा है, खाली लोगों को लड़वा रहा है। लेकिन मैं यहां बैंगन बेचने नहीं आया हूं, मुख्यमंत्री बनकर आया हूं। हम नहीं चाहते हैं कि उनके खिलाफ कोई कुछ बोले, सभी ने उनको सम्मान दिया है।

गहलोत यहीं नहीं रुके उन्‍होंने कहा कि सचिन पायलट के पीछे इस समय कई बड़े लोगों का हाथ है। बड़े-बड़े कॉरपोरेट उनकी फंडिंग कर रहे हैं। भाजपा की ओर से फंडिंग की जा रही है, लेकिन हमने सारी साजिश को नाकाम कर दिया है। इसके साथ ही अशोक गहलोत ने सचिन पायलट का केस लड़ रहे बड़े-बड़े वकीलों पर भी निशाना साधा। उन्‍होंने कहा कि पायलट के सभी वकील महंगी फीस वाले हैं, तो उनका पैसा कहां से आ रहा है। क्या सचिन पायलट सभी को पैसा दे रहे हैं?

गौरतलब है कि पिछले कुछ दिनों से राजस्‍थान की राजनीति में काफी उथल-पुथल चल रही है। राजस्‍थान में कांग्रेस पार्टी दो धड़ों में बंटी नजर आ रही है। एक धड़ा अशोक गहलोत का है, तो दूसरा सचिन पायलट का है। दोनों की ओर से आरोप-प्रत्‍यारोप का दौर जारी है। हालांकि, अभी तक अशोक गहलोत ही सचिन पायलट पर हावी होते नजर आ रहे हैं। इससे पहले अशोक गहलोत सचिन पायलट पर सरकार को गिराने का आरोप लगा चुके हैं।

द फ्रीडम स्टॉफ
पत्रकारिता के इस स्वरूप को लेकर हमारी सोच के रास्ते में सिर्फ जरूरी संसाधनों की अनुपलब्धता ही बाधा है। हमारी पाठकों से बस इतनी गुजारिश है कि हमें पढ़ें, शेयर करें, इसके अलावा इसे और बेहतर करने के सुझाव दें।
http://thefreedomnews.com

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *