उत्तर प्रदेश

पुलिस बनाएगी विकास के साथी शशिकांत की पत्नी मनु को सरकारी गवाह, ऑडियो की फॉरेंसिक जांच

यूपी ब्यूरो के साथ कानपुर से वैभव सिंह: कानपुर के चौबेपुर के बिकरू गांव में दो-तीन जुलाई की रात आठ पुलिसकर्मियों की हत्या के मामले की जांच कर रही एसआइटी ने साक्ष्य जुटाना शुरू कर दिया है। पुलिसकर्मियों की हत्या में मुख्य आरोपित विकास दुबे के साथ छह लोगों को पुलिस एनकांउटर में ढेर किया है, जबकि 21 नामजद में छह को गिरफ्तार किया गया है। पुलिस अब इस केस में विकास दुबे के सहयोगी शशिकांत पाण्डेय की पत्नी मनु को सरकारी गवाह बनाने की योजना में लगी है। बिकरू गांव की घटना के बाद मनु के कई ऑडियो सोशल मीडिया में वायरल हैं।

शशिकांत पाण्डेय को पुलिस ने बीती 14 जुलाई को गिरफ्तार करने के बाद उसकी निशानदेही पर विकास दुबे के घर से पुलिस टीम से लूटी गई एके-47 और शशिकांत के घर से इंसास राइफल बरामद की थी। इसके बाद अब पुलिस बिकरू गांव कांड में शशिकांत और उसकी पत्नी मनु को सरकारी गवाह बनाने के प्रयास में है। शशिकांत के साथ ही उसकी पत्नी मनु ने पुलिस को घटना का आंखों देखा हाल बताया है और पुलिस को सहयोग करने की बात कही है।

पुलिस की जांच में सामने आया है कि मनु पांडेय और शशिकांत वारदात के प्रत्यक्षदर्शी हैं। उन्होंने वारदात की तैयारी से लेकर बिकरू गांव में आठ पुलिस कॢमयों की हत्या तक की पूरी कहानी पुलिस को बताई है। किस छत से कौन गोलियां चला रहा था, यह सब जानकारी दी है। मनु के तो दो ऑडियो भी सोशल मीडिया पर वायरल हैं। जिनकी पुलिस फॉरेंसिक जांच भी करा रही है। मनु की सुरक्षा के घर पर एक महिला सिपाही की तैनाती भी कर दी गई है। मनु ने इस दौरान मीडिया से भी कहा वह अब मीडिया से बात नहीं करना चाहती, उसे जो भी कुछ बोलना है, वह पुलिस से ही बोलेगी।

कानपुर के एसपी ग्रामीण बृजेश कुमार श्रीवास्तव ने बताया कि अगर दोनों सरकारी गवाह बनते हैं तो मजिस्ट्रेटी बयान दर्ज किए जाएंगे। इसके बाद कोर्ट में पेश करके उनकी गवाही के साथ ही अन्य पूरी प्रक्रिया की जाएगी। विकास दुबे के एनकाउंटर में मारे जाने के बाद हर रोज नए-नए तथ्य और ऑडियो सामने आ रहे हैं।

विकास दुबे के गुर्गे शशिकांत को पुलिस ने गिरफ्तार करके जेल भेज दिया है। अब शशिकांत की पत्नी मनु पुलिस के राडार पर है। मऩु के कई ऑडियो वायरल हुए हैं, जिसमें वह पुलिस पर हमले करने की योजना के बारे में मोबाइल पर बता रही है। पुलिस अधीक्षक (ग्रामीण क्षेत्र) बृजेश कुमार श्रीवास्तव ने बताया कि मनु की भूमिका की जांच की जा रही है। उसके खिलाफ सबूत मिले हैं। जांच पूरी होने के बाद कार्रवाई तय होगी। कानपुर के पुलिस महानिरीक्षक मोहित अग्रवाल ने बताया की मनु पाण्डेय सब जान के भी अनजान बनी रही।

द फ्रीडम स्टॉफ
पत्रकारिता के इस स्वरूप को लेकर हमारी सोच के रास्ते में सिर्फ जरूरी संसाधनों की अनुपलब्धता ही बाधा है। हमारी पाठकों से बस इतनी गुजारिश है कि हमें पढ़ें, शेयर करें, इसके अलावा इसे और बेहतर करने के सुझाव दें।
http://thefreedomnews.com

Leave a Reply

Your email address will not be published.