उत्तर प्रदेश

पेड़ो को कटने से बचाने के लिए पर्यावरणविद् राजेंद्र वैश्य ने लिखा प्रधानमंत्री को चिट्ठी

रायबरेली: मुराई बाग कस्बे में राजकीय राज्यमार्ग 13 के किनारे लगे सैकड़ों वृक्षों को बचाने के लिए पर्यावरणविद् राजेन्द्र वैश्य ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को खत लिखकर इऩ वृक्षों को बचाने एंव डलमऊ में एक रिंग रोड बनाने की मांग की है।

यह लिखा चिट्ठी में

राजेंद्र ने चिठ्ठी में दलील दी कि-

महोदय,खराब होती आबोहवा, प्रदूषण,जल की कमी एवं पृथ्वी का बढ़ता ताप आज की सबसे बड़ी समस्या है। पेड़-पौधे औषधीय गुणों से सम्पन्न होने के साथ ही वातावरण की हानिकारक कार्बनडाई आक्साइड सहित अनेक जहरीली गैसों को सोख कर जीवनदायी ऑक्सीजन उन्मुक्त करते है। इससे पर्यावरण में प्रदूषक तत्वों का खात्मा होता है और वह मानव जीवन के अनुकूल बनता है। पृथ्वी के तापमान को नियंत्रित करने एवं भूगर्भ जल संरक्षण में पेड़ो की महत्वपूर्ण भूमिका होती है। पेड़, पर्यावरण के पैरामीटर पक्षियों के घर होते है। अकारण किसी का घर उजाड़ना शाश्वत नियमों के विरुद्ध है। यदि इन पेड़ों का कटान किया गया तो कस्बा के हालात रेगिस्तान जैसे हो जाएंगे और गर्मियों में कस्बा आग का गोला बन जाएगा। इस परिस्थिति में स्थानीय निवासी तथा राहगीर भीषण ताप सहन को मजबूर होंगे जो कि अत्यंत कष्टदायीं होगा। मानव एवं पशु-पक्षियों के लिए बहुपयोगी वृक्षों का अकारण पातन की योजना अनुचित एवं कष्टदायी है तथा शासन की मंशा के भी विरुद्ध है।

 

पेड़ स्थानीय प्रशासन की नजर में यातायात व्यवस्था में बाधक

मुराई बाग कस्बे के सभी मार्गों के किनारे लगे पेड़ स्थानीय प्रशासन की नजर में यातायात व्यवस्था में बाधक बने हुए हैं। तहसील प्रशासन व वन विभाग योजनाबद्ध तरीके से सड़क के किनारे लगे पेड़ों को काटने के प्रयास में लगा हुआ है। उपजिलाधिकारी ने वन विभाग को एक पत्र जारी कर रायबरेली रोड पर एक पेड़, चौराहे के निकट ऊंचाहार मार्ग पर एक पेड़ व मुराईबाग फतेहपुर तिराहे पर एक पेड़ काटने के निर्देश दिए हैं। वन विभाग कर्मियों ने बुधवार को उक्त तीनों पेड़ों की गोलाई व अनुमानित बिक्रीदर का आंकलन कर रिपोर्ट जिला वन अधिकारी को भेजी है। डीएफओ स स्वीकृति मिलते ही पेड़ों को काटने की प्रक्रिया शुरू होगी।

रिंग रोड की मांग

नगर पंचायत अध्यक्ष बृजेश दत्त गौड़ ने कहा कि कस्बे में लगातार बढ़ रहे वाहनों के दबाव को देखते हुए रिंग रोड या बाईपास बनाने के लिए पत्राचार किया गया है। जिले के अधिकारियों को बाईपास या रिंग रोड निर्माण की दिशा में प्रयास करने चाहिए।

Leave a Reply

Your email address will not be published.