उत्तर प्रदेश

पुजारी बनकर रह रहा था पत्नी का ‘हत्यारा’, 9 साल बाद पुलिस ने दबोचा

गाजियाबाद की इंदिरापुरम पुलिस ने 2012 में अपनी पत्नी को मौत के घाट उतारने वाले हत्यारे पति को आखिर 9 साल बाद गिरफ्तार कर लिया है। आरोपी अपनी पत्नी की हत्या करने के बाद उसी समय से फरार चल रहा था। आरोपी ओडिशा के एक मंदिर में पुजारी के रूप में रह रहा था।

मूल रूप से गांव अछिंदा थाना वालीकुंडा जिला जगतसिंहपुर ओडिशा का रहने वाला मनोज उर्फ मनोरंजन 2007 में इंदिरापुरम इलाके में रहता था। इसी दौरान उसकी मुलाकात गीता नाम की एक युवती से हो गई और दोनों में प्यार हो गया। जिसके बाद दोनों ने प्रेम विवाह कर लिया। करीब 3 साल तक सब कुछ ठीक चलता रहा, लेकिन 2010 में दोनों में आपसी मतभेद शुरू हो गया और दोनों ही अलग-अलग रहने लगे। गीता घरों में साफ-सफाई का काम कर अपना गुजारा करने लगी, लेकिन मनोज का गुस्सा फिर भी शांत नहीं हुआ। जब गीता 29 सितंबर 2012 को अपने काम से घर लौट रही थी। उसी दौरान मनोज ने गीता की गोली मारकर हत्या कर दी और फरार हो गया।

द फ्रीडम स्टॉफ
पत्रकारिता के इस स्वरूप को लेकर हमारी सोच के रास्ते में सिर्फ जरूरी संसाधनों की अनुपलब्धता ही बाधा है। हमारी पाठकों से बस इतनी गुजारिश है कि हमें पढ़ें, शेयर करें, इसके अलावा इसे और बेहतर करने के सुझाव दें।
http://thefreedomnews.com

Leave a Reply

Your email address will not be published.