राज्य

Jharkhand – गिरफ्तार करके दिखाओ; प्रवर्तन निदेशालय के समन पर भड़के हेमंत सोरेन

झारखंड के सीएम हेमंत सोरेन गुरुवार को ईडी के समन पर तो पेश नहीं हुए, लेकिन इस बहाने भाजपा के लीडरशिप वाली केंद्र सरकार पर तीखा हमला बोला। उन्होंने कहा कि यदि मेरी ओर से कोई अपराध किया गया है तो फिर समन और नोटिस क्यों भेजे जा रहे हैं, आओ और मुझे गिरफ्तार कर लो। हेमंत सोरेन ने कहा, ‘मुझे ईडी की ओर से आज के लिए समन जारी किया गया, जब छत्तीसगढ़ में मेरा आज आयोजन था। यदि मैंने कोई अपराध किया है तो फिर आकर मुझे गिरफ्तार कर लो। इसके लिए पूछताछ की क्या जरूरत है? ईडी ऑफिस के बाहर सुरक्षा क्यों बढ़ाई गई है। आप झारखंडियों से डरे हुए क्यों हैं?’

हेमंत सोरेन ने कहा कि हमने राज्य में कुछ बाहरी गैंगों की पहचान की है। जो चाहते हैं कि झारखंड के आदिवासी अपने पैरों पर न खड़े हो सकें। इस राज्य में झारखंडियों का ही शासन रहेगा, किसी बाहरी ताकत का कब्जा नहीं हो सकेगा। आने वाले लोकसभा चुनाव और विधानसभा चुनाव में राज्य से भाजपा का सफाया कर दिया जाएगा।’ इस बीच हेमंत सोरेन को ईडी द्वारा समन जारी किए जाने के खिलाफ झारखंड मुक्ति मोर्चा सड़क पर उतर आया है। सैकड़ों की संख्या में कार्यकर्ताओं का हुजूम पहले राजधानी रांची स्थित ऐतिहासिक मोरहाबादी मैदान में इकट्ठा हुआ और वहां से रैली की शक्ल में मुख्यमंत्री आवास पहुंचा।

राज्यसभा सांसद महुआ माजी, केंद्रीय महासचिव सुप्रियो भट्टाचार्य, विधायक दीपक बिरुआ एवं बैजनाथ राम और वरिष्ठ नेता विनोद पांडेय के नेतृत्व में कार्यकर्ता मुख्यमंत्री आवास पहुंचे। कार्यकर्ताओं ने पार्टी का झंडा थाम रखा था। मुख्यमंत्री आवास के बाहर झामुमो कार्यकर्ताओं ने केंद्र सरकार, बीजेपी और केंद्रीय एजेंसियों के खिलाफ जमकर नारेबाजी की। सीएम कार्यकर्ताओं को संबोधित कर सकते हैं।

प्रदर्शन में शामिल झामुमो के केंद्रीय महासचिव सुप्रियो भट्टाचार्य, विधायक दीपक बिरुआ और बैजनाथ राम ने मुख्य विपक्षी पार्टी बीजेपी पर जमकर हमला बोला। सुप्रियो भट्टाचार्य ने कहा कि 2019 के विधानसभा चुनाव में हमें स्पष्ट और पूर्ण जनादेश मिला। सामंतवादी सोच वाली पार्टी इसे पचा नहीं पा रही है। आदिवासी मुख्यमंत्री उन्हें हजम नहीं हो रहा है। सुप्रियो भट्टाचार्य ने कहा कि सीएम के पूर्व निर्धारित कार्यक्रम हैं इसलिए वे ईडी ऑफिस नहीं गए। विधायक दीपक बिरुआ ने कहा कि बीजेपी सत्ता के लिए असंवैधानिक कार्य कर रही है। आनन-फानन में मुख्यमंत्री को समन किया गया। उन्होंने कहा कि हमने विशेष सत्र बुलाकर बहुमत साबित किया है, लेकिन इन लोगों को हजम नहीं हो रहा। विधायक बैजनाथ राम ने कहा कि आखिर चुनाव आयोग का लिफाफा इतने दिनों से राजभवन में क्यों पड़ा है। यदि उसमें कोई तथ्य है तो महामहिम सार्वजनिक करें।

द फ्रीडम स्टॉफ
पत्रकारिता के इस स्वरूप को लेकर हमारी सोच के रास्ते में सिर्फ जरूरी संसाधनों की अनुपलब्धता ही बाधा है। हमारी पाठकों से बस इतनी गुजारिश है कि हमें पढ़ें, शेयर करें, इसके अलावा इसे और बेहतर करने के सुझाव दें।
http://thefreedomnews.com

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *