उत्तर प्रदेश

डिप्टी जेलर को मिली जान से मारने की धमकी, कैदियों में हो रहीं इस तरह की बातें

महोबा : यूपी के महोबा जिला कारागार में तैनात डिप्टी जेलर को दबंग ने फोन कर जेल में निरुद्घ साथियों को विशेष सुविधाएं देने और विरोधियों को प्रताड़ित करने का दबाव बनाया। विरोध करने पर डिप्टी जेलर को घर में घुसकर गोली मारने की धमकी दी। डिप्टी जेलर की तहरीर पर शहर कोतवाली में आरोपी के खिलाफ मुकदमा दर्ज किया गया है। पुलिस मामले की जांच पड़ताल में जुट गई है।

योगी सरकार में आये दिन इस प्रकार की घटनाएं सामने आ रही है| कभी दरोगा की निर्मम हत्या का मामला सामने आता है तो कभी वकील की दिनदहाड़े हत्या की गूंज लोगों के कानों में सुनाई पड़ती है| अभी हाल में ही दरोगा हत्याकांड की गुत्त्थी सुलझी नहीं थी, इसके बाद जेल में हुई मुन्ना बजरंगी की हत्या ने तो कानून ब्यवस्था पर ही सवाल खड़े कर दिए थे, इसके बाद जेलर के पास धमकी भरे फ़ोन ने तो कानून ब्यवस्था पर ही सवाल खड़े कर दिए है. लगातार मीडिया से सवाल पूछे जाने के बाद मुख्यमंत्री कानून प्रसासन को पाक साफ़ बताना आज उनको ही कठघरे में खड़े कर रहा है.

जिला जेल में तैनात डिप्टी जेलर शिशिरकांत कुशवाहा ने शहर कोतवाली तहरीर देकर बताया कि उनके मोबाइल फोन पर काल आई। कॉल करने वाले युवक ने अपना नाम मनीष त्रिपाठी बताया। फोन पर मनीष ने जेल में बंद साथियों को विशेष सुविधाएं देने का दबाव बनाया।इसके साथ ही उसने विरोधियों को प्रताड़ित करने की बात कही। विरोध करने पर गाली गलौज की गई। ऐसा न करने पर घर में घुसकर गोली मारने की बात कही।

डिप्टी जेलर की तहरीर पर कोतवाली में धारा 186, 504, 506 के तहत मुकदमा दर्ज किया गया है। कोतवाली प्रभारी विक्रमाजीत सिंह ने बताया कि आरोपी मनीष के खिलाफ कोतवाली में पहले से विभिन्न मुकदमें दर्ज है। युवक आपराधिक प्रवृत्ति का है। घटना की जांच कराई जा रही है। जल्द ही उसे गिरफ्तार कर जेल भेजा जाएगा। डिप्टी जेलर को मोबाइल फोन पर धमकी दिए जाने के मामले से जेल अधिकारियों और कर्मचारियों में हड़कंप मचा रहा। इस घटना से कैदियों में तरह-तरह की बातें हो रही हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published.