देश

पाकिस्तानी रेंजरों ने फिर किया संघर्ष विराम का उल्लंघन, एक बच्चे की मौत

जम्मू: जम्मू- कश्मीर के अरनिया सेक्टर में पाकिस्तानी रेंजरों ने एक बार फिर संघर्ष विराम का उल्लंघन करते हुए कई स्थानों पर सीमा चौकियों पर मोर्टार से गोले दागे। अंतरराष्ट्रीय सीमा पर तैनात बीएसएफ के जवानों ने जवाबी कार्रवाई की।  पाकिस्तान की इस फायरिंग में अखनूर सेक्टर के केरी बट्टाल में गोली लगने से एक 8 माह के मासूम की मौत हो गई। बताया जा रहा है कि यह मासूम अपने परिवार के साथ घर के बाहर सोया था और तभी सीमापार से गोलियां बरसना शुरू हो गईं। पाकिस्तान की इस हरकत का भारतीय सेना मुंहतोड़ जवाब दे रही है। इससे पहले सोमवार को अरनिया में पाकिस्तानी फायरिंग में एक पुलिसकर्मी समेत 6 लोग घायल हो गए थे।
पाकिस्तान ने किया फिर धोखा 
बीएसएफ द्वारा पाकिस्तान को दिए मुंहतोड़ जवाब के बाद पाकिस्तान ने संघर्ष विराम की अपील की थी लेकिन इसके कुछ घंटों बाद खुद ने ही सीजफायर तोड़ते हुए देर रात से गोलीबारी शुरू की साथ ही अरनिया और सांबा में एक के बाद एक कई मोर्टार दागे। इनकी चपेट में आने से कई लोग घायल हो गए थे। उधर जम्मू के सांबा जिलेे में भी पाकिस्तान गोलाबारी कर रहा है। पाकिस्तान ने जम्मू और सांबा जिलों के सीमांत क्षेत्रों में मंगलवार को तीसरे दिन भी गोलाबारी जारी रखी। पाकिस्तान रिहाशयी इलाकों को निशाना बनाकर गोलाबारी कर रहा है। इसमें तीन लोग घायल हो गए। घायलों में एक महिला की मौत हो गई है। उनमें से एक को उपचार के लिए जम्मू के राजकीय मेडिकल कालेज अस्पताल भर्ती करवाया गया।
 
पाकिस्तान रात से रूक-रूक कर अरनिया, आरएस पुरा, सांबा की दो दर्जन के करीब चौकियों को निशाना बना कर 82 एमएम के गाेले बरसा रहा है। यह गोलाबारी अभी भी जारी है। आरएस पुरा के सीमांत गांव में तीन लोग घायल हुए हैं। प्रशासन ने हालांकि कई लोगों को सुरक्षित बाहर निकाल लिया है। मगर कई लोग अभी भी गांवों में ही हैं। वहीं रायपुर आरएसपुरा के थोडू राम को मेडिकल कालेज अस्पताल जम्मू में भर्ती करवाया गया है। उसे टांग में छर्रे लगे हुए है।
बंद है स्कूल 
सीमांत क्षेत्रों में पाकिस्तान की ओर से की जा रही गोलाबारी के कारण पूरे क्षेत्रों में दहशत का माहौल बना हुआ है। पांच किलोमीटर के दायरे में आने वाले सभी सरकारी व निजी स्कूल लगातार पांचवें दिन भी बंद हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published.